What is Amazon Affiliate Marketing in Hindi

What is Amazon Affiliate Marketing in Hindi- अमेजॉन एफिलिएट मार्केटिंग सम्पूर्ण जानकारी

What is Amazon Affiliate Marketing in Hindi

What is Amazon Affiliate Marketing in Hindi-क्या आप जानते हैं कैसे हम अमेजॉन के लिए एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते हैं अमेजॉन एक बहुत बड़ा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है और इस वर्ल्ड का नंबर वन ई-कॉमर्स है और अमेजॉन सभी यूजर को बहुत सारा बेनिफिट देने की कोशिश कर रहा है |

अगर आप एक डिजर्विंग कैंडिडेट हो, एफिलिएट मार्केटिंग में अमेजॉन एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जिसके थ्रू काफी सारी सेल जनरेट कर सकते हो और कमीशन कमा सकते हो, तो आज मैं आपको ऑर्गेनिक और इन ऑर्गेनिक दोनों तरीके आपको बताऊंगा कि कैसे आप ऐमेज़ॉन की सेल को जनरेट कर सकते हो इसके और भी क्य -क्या फायदे हैं और आपको किस तरीके से कमीशन देता है उसकी Cookies (कूकीज) और इसका डूरशन क्या होता है और भी अन्य बातें आपको बताने वाला हूं |

हम को सबसे पहले एक अमेजॉन का एसोसिएट अकाउंट क्रिएट करना होता है उसके लिए हमको गूगल में सर्च करना है अमेज़न एसोसिएट और फिर amazon.in में जाना होगा तथा amazon.com में नहीं जाना है .in इंडिया के लिए है और .com यूनिवर्सल है |

अब amazon.in जाकर अपने ईमेल से sign in कर लेना है और अपने लिए एक स्टोर ID बनानी है, जो कि आपके लिए अमेज़न की तरफ से एक यूनिक ID होगी, जिसे हम स्टोर ID कहते है इस यूनिक स्टोर ID से जो भी सेल होगी वो आपकी मानी जायगी |   

आपको एक चीज और ध्यान रखनी है आपका अमेजॉन अकाउंट और अमेजॉन एसोसिएट का अकाउंट दोनों एक ही आईडी से बना होना चाहिए |

जैसे ही आपका अकाउंट क्रिएट हो जाएगा तो आपके अकाउंट में अमेजॉन एसोसिएट साइड स्ट्राइप मतलब एक पीली पट्टी बन जाएगी इसका मतलब है कि अब आप इसके थ्रू एफिलिएट प्रोग्राम या सेल कर सकते हैं अपने प्रोडक्ट का लिंक बना सकते हो |

जब आप अमेजॉन एसोसिएट में जाकर आपको अपनी फुल डिटेल्स भरनी होती है जैसे-वेबसाइट या ब्लॉग या मोबाइल एप की जानकारी, बैंक अकाउंट की डिटेल्स आदि और हम इस लिंक को कहा और कैसे प्रोमोट करंगे   

अब आपको एक बात याद रखनी है कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग रेडी होना चाहिए, उसके बाद ही आप अप्लाई करें वरना अमेजॉन आपको परमिशन नहीं देगा अमेजॉन एसोसिएट अकाउंट की

अब बात करते हैं कि लिंक किसका बनाना है जैसे एग्जांपल के लिए मैं मेंस जींस को सेल चाहता हूं अब मुझे इस पार्टीकूलर चीज का लिंक चाहिए होगा, जो यूनिक होगा अगर यूनिक नहीं होगा तो अमेजॉन को पता नहीं चल पाएगा कि यह सेल हमारे द्वारा की गई है, तो अमेजॉन ट्रेक नहीं कर पाएगा कि मैंने सेल दी है वह वाली जिस के थ्रू यह बिका है, माल इसके लिए मुझे करना क्या है

ऊपर जो एसोसिएट स्ट्रिप आ रही है उसमें एक Text का कॉलम है, जैसे ही मैं उस लिंक पर क्लिक करूंगा तो मुझे एक लिंक मिलेगा और यह मेरा उस प्रोडक्ट के लिए एक यूनिक लिंक होगा, मतलब इसके थ्रू अगर सेल होगी तो ही कंसीडर होगा कि यह सेल मेरी है, अगर इसके थ्रू सेल नहीं होगी तो ऐसा लगेगा कि इसमें आपका कोई कॉन्ट्रिब्यूशन नहीं है |

आप आप समझ गए होंगे कि आपको यूनिक लिंक क्यों चाहिए, जब इस लिंक आप कहीं शेयर करेंगे तभी अमेजॉन ट्रैक कर पाएगा कि यह सेल आपके द्वारा हुई है |

अब जब हम इस लिंक को नई विंडो में ओपन करके देखेंगे तो उसमें सेम वही प्रोडक्ट दिखाई देगा जो अमेजॉन की साइड में दिखाई दे रहा था और URL में हमारी स्टोर आईडी भी show हो जाएगी, किससे कंफर्म हो जाएगा कि यह प्रोडक्ट अगर कोई लेता है तो उसकी सेल का बेनिफिट या कमीशन हमको मिलेगा इस लिंक से अमेजॉन को पता लग जाएगा कि यह सेल किसके द्वारा हुई है और कमीशन किस के पास जाना है

अमेजॉन एफिलिएट एसोसिएट अकाउंट के बेनिफिट

यह जो हमारा अमेजॉन एफिलिएट लिंक है, यह अगर कोई भी क्लिक करता है तो वह सीधा इस प्रोडक्ट पर आएगा और अगर इस प्रोडक्ट को किसी यूज़र ने Buy कर लिया तो हमारा कमीशन बन जाएगा अगर हमारे इस एफिलिएट लिंक से वह इस प्रोडक्ट के अलावा या कुछ भी और परचेज करें तो हमें डबल सेल का टोटल कमीशन मिल जाएगा मतलब आपका जो कमीशन होगा वह दोनों सेल में जितना कमीशन बनता है मिल जाएगा

इसके अलावा अगर यूजर साइट के अंदर वह कुछ भी सेल करेगा. कुछ भी यूजर खरीदेगा तो उसकी सेल का टोटल कमीशन भी हमारे पास आएगा,

इसका मतलब यह नहीं कि आपने जिस प्रोडक्ट का लिंक दिया है उसी प्रोडक्ट का Buy करने से आपको कमीशन मिलेगा बल्कि अगर एक बार आपने लिंक पर क्लिक कर दिया, उसके बाद उस पूरे साइट पर जितनी शॉपिंग कर रहा है उस सारे शॉपिंग का आपको कमीशन मिलेगा

 दैट इज द बेस्ट पार्ट ऑफ अमेजॉन एफिलिएट

दूसरी चीज आपको बता दूं और क्या बेनिफिट होने वाला है- अगर आपके द्वारा दिए एफिलिएट लिंक से यूजर अगर अमेजॉन की साइड पर लैंड होता है, तो आपके पास तो 24 घंटे के लिए आपकी जो कुकीज एफिलिएट कुकीज सेव हो जायगी मतलब अगर यूजर 24 घंटे के अंदर कुछ भी खरीदता है तो वह सेल भी आपके अकाउंट पर ही मानी जाएगी, सारी सेल- सारा अमाउंट आपके अकाउंट में ऐड हो जाएगा

इससे बेहतर इस दुनिया में कोई तरीका हो सकता है क्या, इतने सारे ऑप्शन अवेलेबल हैं यह हमारे फेवर में या एफिलिएट मार्केटिंग के फेवर में है तो इससे बेटर ऑप्शन शायद ही आपको कहीं और दिखाई देगा इसीलिए लोग अमेजॉन एफिलिएट मार्केटिंग करना पसंद करते हैं |

अब आप खुद ही सोचो किसी ने अगर कुछ भी पर परचेंज नहीं भी किया तो आपका कुछ गया क्या | आपने वह प्रोडक्ट खरीद कर नहीं रखा है, आपको उसको बेचना नहीं है

आपका वह प्रोडक्ट था ही नहीं, आपने तो खाली रिकमेंड किया, पहला बेनिफिट तो यही है कि मुझे स्टॉक नहीं करना पड़ा और मुझे अपना पैसा फसाना नहीं पड़ा और दूसरा आप जो लिंक भेज रहे हो और यूजर कुछ और भी खरीद रहा है तो वह सारी की सारी आप की सेल मानी जाएगी ना कि आपने जो लिंक शेयर किया था केवल उसी पर्टिकुलर आइटम्स की |

और साथ में इसके अलावा यूजर ने 24 घंटे के अंदर कुछ भी ख़रीदा और कहीं से भी बाय करता है तो उसका कमीशन भी आपको ही मिलेगा, इससे बेटर ऑप्शन और कोई नहीं हो सकता

अब बात करते हैं कि एफिलिएट मार्केटिंग में सेल जनरेट कैसे होती है मेन मुद्दा तो यह है ऊपर वाले तो आप्शन बेशक इंपॉर्टेंट थे यह आपको पता लग गया कि यह सारी चीजें होती है But प्रॉब्लम तो यह है कि सेल कैसे होगा | अगर आपको सेल जनरेट करना नहीं आता तो यह लिंक आपके लिए बेकार है सेल जनरेट करने के लिए सबसे पहले आपको चाहिए ट्रैफिक और ट्रैफिक के दो तरीके हैं ऑर्गेनिक एंड इनॉर्गेनिक |

ऑर्गेनिक ट्रैफिक- जब आप अपनी वेबसाइट को या फेसबुक पेज को या अदर मीडिया प्लेटफॉर्म को सही से ऑप्टिमाइज कर देते हो, आपको जो ट्रैफिक मिलता है फ्री में उसे कहते हैं ऑर्गेनिक |

आप समझ सकते हैं कि एक वेबसाइट को ऑप्टिमाइज करने में बहुत समय लग जाता है ऑर्गेनिक करना आपके लिए बहुत जरूरी है तभी आपको फायदा होगा जो मार्जन या कमीशन |

इन-ऑर्गेनिक- लेकिन अगर हमारे पास ऑर्गेनिक नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं तो हमें इन-ऑर्गेनिक ट्रैफिक का ही सहारा लेना पड़ेगा और इन -ऑर्गेनिक को भी इस तरीके से यूज करना है कि हमारा जो बेनिफिट है वह बना रहे अगर जितना हमने पेड मार्केटिंग में लगा दिया उतना आपका सेल भी जनरेट नहीं हुआ तो क्या फायदा, ऐसा नहीं करना है यह आपको ध्यान रखना है सबसे पहले ऑर्गेनिक को स्टार्ट करते हैं सबसे पहले आपके पास वेबसाइट या ब्लॉग हो या फिर आपका कोई यूट्यूब चैनल हो या फिर आपका कोई फेसबुक पेज हो जिसमें अच्छे खासे फॉलोअर हैं क्योंकि यहीं से ट्रैफिक जनरेट हो सकता है फ्री में

इन -ऑर्गेनिक में आप फेसबुक ऐड या गूगल ऐड आदि का सहारा ले सकते हैं

एक बात ध्यान रखना कि आप सोशल मीडिया से डायरेक्ट इस लिंक को शेयर नहीं करना है तो कमीशन में प्रॉब्लम आ सकती है अमेजॉन की पॉलिसी की अगेंस्ट भी है

आप एक बात को ध्यान रखना कि आप डायरेक्ट अमेज़न ट्रैफिक नहीं दोगे क्योंकि यह अगेंस्ट पॉलिसी है आप कोई भी फेसबुक ऐड या गूगल ऐड से डायरेक्टली अमेजॉन का लिंक sayer नहीं करना है बल्कि किसी ब्लॉग पोस्ट के अन्दर लिंक देना है ताकि यूजर पहले कुछ समय आपके पोस्ट में समय गुजारे फिर लिंक तक पहुचे वर्ना अमेज़न को लगेगा की आप ने डायरेक्ट यूजर (ट्राफिक) को फ़ोर्स फुली अमेज़न साइड में भेज देया जो कि अमेज़न पॉलिसी के खिलाफ है इस बात का जरुर से ध्यान रखे वरना आपका अमेजॉन एसोसिएट का अकाउंट सस्पेंड हो सकता है तो आपके इनकम में प्रो प्रॉब्लम आ सकती है इसलिए पहले आप एक आर्टिकल लिखोगे, आपका यूजर आर्टिकल में जाना चाहिए, फिर वह आर्टिकल के थ्रू अगर लिंक को क्लिक करता है कॉल टू एक्शन होते हुए वह अगर वह अमेजॉन में आता है तो आपको बनिफिट होगा

तो ये था अमेजॉन एसोसिएट का पोस्ट अगर आपको अच्छा लगे तो अन्य लोगो तक हमारी पोस्ट को sayer करे

This is Amazon Affiliate Marketing in Hindi