What is Google Ad-Sense in Hindi 2021

What is Google Ad-Sense in Hindi 2021

What is Google Ad-Sense in Hindi 2021
What is Google Ad-Sense in Hindi 2021

What is Google Ad-Sense in Hindi 2021- क्या आपको गूगल एडसेंस का अप्रूवल नहीं मिल रहा है तो ये पोस्ट आपके काम की है |

और अन्य पोस्ट

एक बात ये जो भी फार्मूला दे रहा हु वो में सभी फार्मूला को में खुद अपने कंटेंट में अपनाता हु तभी तो मुझको मात्र दो महीने और अप्लाई करने के 24 घंटे में गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिला है और इसके लिए कोई रोकिट साइंस नहीं है बस कुछ बेसिक काम करने है |

अब ये करना कैसे है वो बताता हु -अगर आपकी वेबसाइट वर्डप्रेस में तो आपको गूगल का फ्री प्लगइन Site Ket को इम्पोर्ट करना है, एक्टिवेट करना, इसके अन्दर आपको सर्च कंसोल, एनालिटिक्स, पेज स्पीड, टैग मेनेजर, ऑप्टिमाइज़ और एडसेंस के आप्शन मिलते है जो आपकी वेबसाइट को यूजर फ्रैंडली बना देता है और इसके अन्दर ही आपको एडसेंस का आप्शन मिलता है उस पर कुछ बेसिक परमीशन देनी है और आपका एडसेंस अकाउंट बन गया, इसकी सबसे बढ़िया बात ये है कि आपको एडसेंस का कोड अपनी वेबसाइट थीम्स के हेड सेक्सन में लगाना नहीं पढता है, ये Google Site Ket खुद करता है और आपको सहायता करता है |

और अन्य

कभी आपने सोचा कि गूगल आपको एडसेंस का अप्रूवल क्यों दे और आपमें ऐसा क्या है जो स्पेशल है, सबसे पहले आपको अपने विषय को चुनना है |    

सबसे पहले बात आती है कि गूगल क्या है- तो उत्तर है कि गूगल सबसे बड़े सर्च इंजन के साथ साथ खुद भी एक वेबसाइट ही है, ये कोई सोशल मिडिया की तरह कोई एप नहीं है जबकि एप का बेकएंड भी वेबसाइट ही है, उसी प्रकार गूगल एक वेबसाइट है जिसका काम लोगो की समस्या का समाधान करना मतलब कोई अगर गूगल में कुछ सर्च करता है तो उसकी परेशानी का हल जिस वेबसाइट में है ये दिखाना रिजल्ट के रूप में |

अब बात आती है कि गूगल एडसेंस होता क्या है और इससे किस प्रकार हम ऑनलाइन इनकम कर सकते है

गूगल एडसेंस- यह एक गूगल की फ्री सर्विस है और इसके जरिये काफी सारा ऑनलाइन पैसा बनाया जा सकते है, होता क्या है की आजकल आप जब भी किसी वेबसाइट में विजिट करते है या कुछ भी सर्च करते है तो आपको कुछ विज्ञापन दिखाई देते है अब आप से सोच रहे होंगे कि ये विज्ञापन क्यों और कहा से आ रहे है |

तो अब यही पर गूगल एडसेंस के कांसेप्ट आता है मतलब जब कोई बड़ी बड़ी कम्पनी अपने प्रोडक्ट या सर्विस के विज्ञापन के लिए गूगल या फेसबुक में जाते है और कहते है आप हमारा विज्ञापन अन्य लोगो की वेबसाइट या फेसबुक पेज या फेसबुक ग्रुप में दिखाओ और हम उसके बदले आपको पैसे देंगे, तो गूगल या फेसबुक अपने यूजर को कुछ शर्तो के साथ लाइसेन्स या अप्रूवल देते है और फिर यूजर को कुछ हिस्सा देते है जो उन होने कम्पनी वालो से लिया होता है (यह यूजर बेस की हिसाब से अलग अलग हो सकता है) |

और जो कम्पनी विज्ञापन देती है वो गूगल एडवर्ड का प्रयोग करते है उसको अपना खाता बना कर अपना Ads को पब्लिश करता है तो गूगल उस Ads को हमारी वेबसाइट उन विज्ञापन को दिखाता है और हमको एर्निंग होती है इसीलिए हमको गूगल एडसेंस का अप्रूवल की जरुरत होती है मतलब एक प्रकार लाइसेन्स कि आप हमारी वेबसाइट का यूज़ करो और गूगल एडवर्ड से होने वाली कमाई का हिस्सा हमको दो |

 अब फिर से बात करते है कि गूगल एडसेंस के बारे में, आप सभी जानते है गूगल सबसे बड़ा सर्च इंजन है और वो ही अपने एलग्लोरिदम (उसको अपना एक फार्मूला वेबसाइट को मापने का) की गढ़ना के आधार पर तय करता है कि कोई भी वेबसाइट कितनी बढ़िया है या ख़राब है उसी बात पर गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिलता है |

जैसा की आप जानते है कि इस दुनिया में करोडो, अरबो वेबसाइट है चाहे वो किसी कम्पनी की पर्सनल हो या किसी प्राइवेट ब्लॉग वेबसाइट है, तो अब ये कैसे तय हो की कौन बेस्ट है तो इसके लिए गूगल ने कुछ शर्त रखी है मसलन आपके वेबसाइट पेज का ले -आउट, प्राइवेट पोलिसी और अन्य पेज |

गूगल सभी को गूगल एडसेंस का अप्रूवल नहीं देता है

1- नेविगेशन बार- इसके लिए आपके वेबसाइट नीट एंड क्लीन होनी चाहिए मतलब जब यूजर आपकी वेबसाइट में आये और कही पर क्लीक करता है तो वो ही पेज खुले ऐसा ना हो की वो सर्विस में क्लीक कर रहा है खुल रहा प्राइवेट पोलिसी, तो यूजर का एक्स्पीर्यनस ख़राब हो और वो दुबारा गूगल में सर्च ही न करे कि यहाँ तो गलत उत्तर मिलता है |

2- आवश्यक पेज- आपकी वेबसाइट में अबाउट एस, कांटेक्ट एस, प्राइवेट पोलिसी, डिसक्लेमर पेज होने बहुत ही जरुरी है और अगर आप कोई एफिलिएट के जरिये कोई सामान को सेल करते है तो एक पेज एफिलिएट डिस्क्लोजर पेज भी बहुत जरुरी है |

3- कंटेंट- ये सबसे जरुरी है मतलब वेबसाइट का बेस तो ये ही है आपका ज्ञान, आपको लगभग मेरे हिसाब से कम से कम 30 ब्लॉग कंटेंट होना चाहिए, आपने YouTube में कई विडिओ देखे होंगे जो बताते है कि हमने 3 या 4 कंटेंट में ही गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिला सब बकवास बोलते है और आपके कंटेंट में कम से कम 1500 वर्ड का तो होना ही चाहिए और यूनिक भी होना चाहिए |

4- SEO- लोगो इस इसका बड़ा हव्वा बना रखा है, आपको कोई एडवांस seo की जरुरत ही नहीं है बस कुछ बेसिक से काम करने है जैसे कि आपको अपने कंटेंट का टायटल रखना है मतलब आपका कीवर्ड, फिर एक सब -हैडिंग बनानी है जिसमे कीवर्ड होना चाहिए और पहले पैराग्राफ की सुरुआत में भी वही कीवर्ड होना चाहिए, फिर एक इमेज लगा दो और उसमे भी अपना भी कीवर्ड डाल दो और एक अपने फेसबुक पेज या आपका कोई अगर YouTube चैनल है तो उसका लिंक डाल दो और फिर अपनी किसी अन्य पोस्ट का लिंक डाल दो जो आपकी वेबसाइट में ही हो और मेटा डिस्क्रिप्शन में भी कीवर्ड से सुरु करते हुए कुछ उस कंटेंट के बारे में लिखे, इसके बाद seo प्लगइन में निचे की तरफ देखे तो आपको focus key -phrase में कीवर्ड डाल देंगे तो आप देखेंगे की seo ग्रीन हो जाता है मतलब आपका बेसिक seo हो गया   

(अब देखो आपने अपना कीवर्ड को 3 जगह डाला है 1- सब हड्डिंग में, 2- फर्स्ट पैराग्राफ में, 3- इमेज में और आपको कंटेंट की लेंथ के आधार पर कीवर्ड बढ़ाने है मतलब 1000 वर्ड में 3 कीवर्ड, 2000 वर्ड में कम से कम 6 कीवर्ड होने चाहिए ही चाहिए)  

5- वेबसाइट ऐज- आपको सबसे पहले धर्य रखना बहुत जरुरी है, आपको अपनी वेबसाइट के लिए वेट करना होता है मतलब ये नहीं आपने जल्दी जल्दी में 15 दिन में ही 25- 30 कंटेंट लिख लिए और सोलहवे दिन आपने गूगल एडसेंस का अप्रूवल के लिए अप्लाई कर दिया तो पूरी सम्भवना है कि गूगल आपको रिजेक्ट कर देगा तो आपको कम से कम दो से तीन महीने पुरानी होने दो फिर अप्लाई करो तब तक ज्यादा से ज्यादा कंटेंट लिखो |

6- सिक्यूरिटी- ये याद रखे की गूगल सिक्यूरिटी से कम्प्रोमाइज नहीं करता करता है मतलब आपकी वेबसाइट सिक्यूर होनी चाहिए https होना चाहिए, https में s आपकी वेबसाइट सिक्यूरिटी को दर्शाता है और http से https की सर्विस पेड या फ्री हो सकती है इसमें क्लाउडफ्लाएर, इस सर्विस को फ्री में प्राप्त कर सकते है |         

7- वेबसाइट स्पीड- आपकी वेबसाइट की स्पीड तेज होनी मतलब कोई सर्च करता है और गूगल आपकी वेबसाइट रिजल्ट में शो करता है और वेबसाइट लोड ही नही रही या बहुत देर लगा रही है तो इस सिचुएशन में गूगल आपकी वेबसाइट की रेंकिंग को डाउन कर देगा |

8- वेब सर्वर-  कई बार हम सस्ते के चक्कर में कोई ऐसी कम्पनी का सर्वर ले लेते है जो आउट ऑफ़ इंडिया है और इसका सम्बन्ध आपकी स्पीड से है अगर आपने कोई ऐसी कम्पनी का सर्वर ले रखा है जो इन्डिया में है ही नहीं, तो यूजर की रिक्वेस्ट का उत्तर स्लो हो जायेगा और आपको ही नुकसान होगा |

9- फ्री होस्टिंग- कई बार हम फ्री के डोमेन और होस्टिंग को ले लेते है और काफी मेहनत करते है लेकिन सब बेकार हो जाता है, पहले तो फ्री में आपको बहुत सारी फैसिलिती देते है और बाद में स्लो कर देते है, अब आप परेशान हो जाते है और सब छोड़ के चले जाते है |       

10- ट्राफिक- अब बात आती है ट्राफिक की, गूगल एडसेंस के अप्रूवल के इसके लिए इसका कोई महत्व नहीं है, बस आपको एर्निंग नहीं होगी मतलब अगर आपको अप्रूवल मिल भी गया और ट्राफिक नहीं आ रहा तो आपकी किसी प्रकार एर्निंग होगी तो सबसे पहले अपने वेबसाइट के ट्राफिक को बढ़ाने में भी फोकस करो

11- मोबाइल फ्रैंडली रेस्पोंसिप थीम्स- जैसे की आप जानते है कि आजकल सबसे ज्यादा ट्राफिक मोबाइल के थ्रो आ रहा है तो आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रैंडली भी होनी आवश्यक है

ये 11 टिप्स बहुत ही बेसिक है अगर आप इनको आपनी वेबसाइट में इम्प्लीमेंट कर दिया तो में दावे के साथ कह सकता हु आपको भी गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिल जायेगा और आप भी एर्निंग कर सकते हो

मुझे आशा है अगर आपने इन बेसिक काम किया तो आपको 100% नहीं 200% सम्भावना है आपको गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिल जायेगा और आपकी ई मेल में कोग्रट्स का का मेसेज आ जायेगा और जब आपको भी गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिल जाए तो वापस से Google Site Ket में जाकर एडसेंस पर क्लीक कर उसको अपनी वेबसाइट में जोड़ देना है ताकि आपको जो भी एर्निंग हो रही है उसकी डे बाय डे रिपोर्ट मिलती रहे |

What is Google Ad-Sense in Hindi 2021